RTGS Full Form – RTGS क्या है?

RTGS Full Form – RTGS क्या है? Hello दोस्तों, इस पोस्ट में आपको RTGS full form in hindi, RTGS full form in banking के बारे में जानने वाले है, यदि आप इन सवालों का जवाब हिंदी में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट में RTGS से जुड़ी पूरी जानकारी शेयर की गई है। सभी सवालों का जवाब जानने इस से जुड़ी अन्य जानकारी प्राप्त करने और RTGS कहाँ use होता है और क्यों इसे use किया जाता है पर भी एक नजर डालेंगे पूरी जानकारी के लिए पोस्ट को अंत तक पढ़े:

RTGS Full Form 

RTGS का Full Form “Real-Time Gross Settlement” होता है। इसे हिंदी भाषा के उच्चारण में “रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट” और “तत्काल निपटान“कहते है।

आरटीजीएस क्या है?

रीयल-टाइम ग्रॉस सेटलमेंट या आरटीजीएस एक भुगतान प्रणाली है, जो आपके पैसे को तत्काल हस्तांतरण की सुविधा देती है। इसका सीधा मतलब यह है कि जब आप आरटीजीएस प्रक्रिया का उपयोग करके अपने बैंक खाते से अपने पैसे का भुगतान करते हैं, तो आपका पैसा तुरंत इलेक्ट्रॉनिक रूप में लाभार्थी के खाते में स्थानांतरित (instantly transferred) कर दिया जाएगा। RTGS पेमेंट्स मोड का उपयोग आपके डेबिट और क्रेडिट कार्ड भुगतान करने के लिए किया जा सकता है।

आरटीजीएस का उपयोग क्या है?

RTGS का खास कर के उपयोग बहुत बड़ी रकम के ट्रान्सफर में और वास्तविक समय (रियल-टाइम) के आधार पर किया जाता है। इसका उपयोग रिटेल के साथ-साथ कॉर्पोरेट खाताधारकों द्वारा तुरंत ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। जैसा की इसका नाम है, ये कार्य भी वैसे ही करता है इसलिए – यह आपको तुरंत पैसा दिलाने में मदद करता है। RTGS Transfer का निर्माण केवल उच्च मूल्य के लेनदेन के पहलू में किया गया था। आपको केवल पूर्व निर्धारित सीमा से अधिक – यानी 2 लाख रुपये से अधिक राशि का हस्तांतरण करना होगा।

RTGS की विशेषताएं:

निचे इस से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं बताई गयी है-

  • आपके पैसे को भेजने और प्राप्त करने का एक secure और safe source है।
  • यह आपके पैसे को real-time में ऑनलाइन ट्रान्सफर की सुविधा प्रदान करता है।
  • आरटीजीएस का समय एक बैंक से दूसरे बैंक में अलग होगा।
  • इसे आरबीआई द्वारा बनाए रखा जाता ह, इसीलिए यह एक विश्वसनीय स्रोत भी है।
  • इसका उपयोग high value transaction के लिए किया जाता है।
  • इस मोड में न्यूनतम लेनदेन 2 लाख रुपये है।
  • आरटीजीएस करने में क्या फीस और शुल्क लगेगा यह पूर्ण रूप से transfer amount पर निर्भर करता है।
  • यह प्रक्रिया को या तो आप ऑनलाइन कर सकते है या फिर खुद बैंक जाकर भी किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ लीजिये:

IMPS Full Form – आईएमपिएस क्या है?

UPI Full Form in Hindi – यूपीआई क्या है?

VPN Full Form – वीपीएन क्या है?

RTGS लेनदेन की विफलता

जब आप RTGS लेन देन करते है तो इसके विफल (failure) होने की भी संभावना है। प्रमुख रूप से आरटीजीएस लेनदेन की विफलता के सामान्य कारण हैं – एक गैर-मौजूद खाता या यदि अपर्याप्त धन है, अगर आपकी राशि, यदि डेबिट हो जाती है तो इस case में घबराने की जरुरत नही है, बैंक द्वारा पैसों को भुगतानकर्ता या खाताधारक के खाते में वापस जमा कर दी जाती है। ऐसा तब होगा जब दूसरे छोर पर मौजूद बैंक विशिष्ट राशि भेजेगा। राशि आमतौर पर विफलता के एक घंटे के भीतर या कार्य दिवस के अंत तक अधिकतम होती है।

RTGS के लिए क्या विवरण(details) आवश्यक हैं?

आरटीजीएस प्रणाली के माध्यम से सफलतापूर्वक लेन-देन करने के लिए आपको नीचे दिए गए विवरण प्रदान करने होंगे:

  • Transferred की जाने वाली राशि
  • लाभार्थी (Beneficiary) खाताधारक का नाम
  • लाभार्थी खाता नंबर
  • लाभार्थी के खाता का IFS कोड (IFSC)
  • लाभार्थी के बैंक का नाम
  • लाभार्थी बैंक शाखा

Conclusion:

इस post के माध्यम से हमारा एक ही इरादा था की, आप लोगों को RTGS और इससे जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारी हमारे इस article से मिले। हम उम्मीद करते है की आपको इस article को पढ़ कर के सही से चीजों की जानकारी मिली होगी। आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और अन्य लोगों में भी शेयर कर सकते है, ताकि इसके बारे में सभी को जानकारी मिल पाए।

Scroll to Top